Singh

Web Developer and Software Engineer in New Delhi, India

View my photos

मेरे टूटे हुए दिल को , सहारा कौन देगा मेरी तूफ़ान में कश्ती को किनारा कौन देगा यह कैसा मोर पे लाइ है मुझको ज़िन्दिगनी अधूरी सी लिखी गयी है क्यूँ मेरी कहानी है अब किस राह पे चलना इशारा कौन देगा मेरे टूटे हुए दिल कौन सहारा कौन देगा मैं हूँ और साथ मेरे अब मेरी तन्हायाँ हैं मेरी तकदीर से मुजको मिली रुश्वियाँ हैं मेरी आँखों को खुशिओं का नज़ारा कौन देगा मेरे टूटे हुए दिल को सहारा कौन देगा

  • Work
    • Web Development and Design
  • Education
    • Catholic Ashram School, Bhurkunda
    • MIT delhi
    • Gossner College, Ranchi
    • modinagar institute of technology